CDN kya hai | What is CDN in hindi

Content Delivery Network (CDN) यह एक Proxy Server  का network है जो वेबसाइट content को users के लिए अधिक तेज़ी से उपलब्ध कराता है। CDN servers का एक global network है जो इंटरनेट content की  faster delivery प्रदान करने के लिए मिलकर काम करता है।

जब लोग इंटरनेट के माध्यम से content को access करने की  कोशिश  करते हैं, तो एक CDN सुनिश्चित करता है कि users इसे nearest सर्वर से accsess कर सके, इसलिए  वह तेजी से load होता है।

CDN kya hai | What is CDN in hindi
CDN kya hai | What is CDN in hindi

CDN ki vyakhya | Defination of CDN :

एक content delivery network  जिसे ज्यादातर content distribution network  के रूप में जाना जाता है, वेब pages को दुनिया भर में fast load होने में मदत करता है। CDN अलग अलग geographic locatios पर multiple proxy servers का उपयोग करके ऐसा कर सकता है और इन servers का use करके CSS , java Script और images सहित static website को store किया जाता है।

जब भी कोई user किसी website तक पहुंचता है, तो user ने request किय content को सातो समुन्दरो के पार मुष्किलों या कठिनाईयों से गुजरने की जरुरत नहीं है क्योकि CDN user के नजदीक के server का उपयोग करता ह। 

HTTP kya hai ?

CDN kaise kam karta hai | How CDN works :

CDN प्रॉक्सी server को एक high performance नेटवर्क बनाने के लिए नियोजन बद्ध रूप से favorable स्थानों पर रख दिया जाता है ताकि वो ज्यादा से ज्यादा secure और सफल हो।

आप आगे बताया हुआ इसका एक best उदाहरण ले सकते है : Internet  service  providers  (ISP) के द्वारा अपने नेटवर्क को एक दूसरे से जोड़ने के लिए use किए जाने वाले globally distributed internet nodes (Internet Exchange Points- IXPs) हैं। इसी तरह के इन हाई performance nodes पर CDN proxy server (कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क प्रॉक्सी सर्वर) को तैनात करके, CDN operators डेटा ट्रांसमिशन में high performance  के लिए  बेहतर से बेहतर प्रयास कर सकते हैं।

CDN ki Jarurat | Who needs CDN:

कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क यानि CDN का उपयोग बहुत ज्यादा ट्रैफिक वाली और ऐसी वेबसाइट जिनका दुनिया भर से user है ऐसे कई वेबसाइटों के द्वारा किया जाता है। यदि कोई वेबसाइट CDN का उपयोग किए बिना ही दुनिया भर से आ रहे request का जवाब दे रही है, तो इन requests और requested डेटा को बहुत सारे Nodes के माध्यम से उनके specific वापरकर्ता तक पहुंचाया जा रहा है। जिसका मतलब है कि वेबसाइट को लोड करने में कुछ थोड़ा बहुत समय लगेगा। 

तो इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप content delivery नेटवर्क यानि CDN  का इस्तेमाल करके, वेबमास्टर लोडिंग टाइमिंग को कम कर सकते हैं , जिसका आपके वेब साइट की usability और सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन यानि की SEO दोनों पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है,

जिससे की आपकी वेब साइट यूजर फ्रेंडली और SEO फ्रेंडली बनती ही।

हमने निचे कुछ कंपनियों और ओर्गनइजेशन्स के प्रकार बताय है जो अपने वेब साइट पर कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क यानि की CDN का इस्तेमाल करके फायदे में रह सकते है :

1) ऑनलाइन व्यापारी यानि online merchants अपनी वेबसाइट पर CDN का इस्तेमाल करके तेजी से लोडिंग टाइमिंग और बेहतर परफॉरमेंस  के माध्यम से अपनी conversion rate में सुधार करके बहुत ज्यादा मुनाफा कमा सकते हैं।

2) स्ट्रीमिंग सर्विसेज अपने वीडियो और ऑडियो के लिए कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क का इस्तेमाल कर अपने डिजिटल कंटेंट का फ़ास्ट और भरोसेमंद वितरण वितरण करती हैं। यही बात लाइव गेमिंग प्लेटफॉर्म पर भी लागू होती है जैसे की आजकल खेले जाने वाले ऑनलाइन muitiplayer गेम्स।

3) सरकारी एजेंसियां ​​​​ऐसा इसलिए करती हैं ताकि वो खुद को आउटेज और मलफंक्शनिंग से बचा सकें और वो किसी असाधारण कंडीशन में भी जानकारी प्रोवाइड करने के अपने ड्यूटी का पालन कर सकें।

4) सॉफ्टवेयर डाउनलोड और अपडेट के प्रोवाइडर्स अपनी सेवाओं की विश्वसनीयता सुनिश्चित करने के लिए कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क का इस्तेमाल करते हैं।

CDN ke Fayade | Advantages of using CDN:

1) कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क वेबसाइट के परफॉरमेंस में सुधार करता है :
कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क का इस्तेमाल करके ; फाइलें तेजी से और बिना रूकावट के डाउनलोड होती हैं और लाइव स्ट्रीम्स लेग नहीं होती ना रुकती हैं।
एक CDN आपके कंटेंट को आपके उपयोगकर्ताओं, आपके वेबसाइट विसिटर्स, आपके ग्राहकों और आपके संभावित ग्राहकों के नजदीक रखता है।
 
तो वैसे देखा जाए तो कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क का मतलब है कि आपकी वेबसाइट या आपकी ऑनलाइन सेवा में कम विलंबता, बेहतर रॉउटिंग   और कुल मिला कर अच्छी गति है।
 
2) CDN वेब होस्टिंग खर्चे को कम करता है :
कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क आपके वेब सर्वर पर आने वाले लोड को कम करता है और इससे होस्टिंग बैंडविड्थ खर्चे को कम करने में मदद होती है।
कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क वास्तव में आपके वेब होस्टिंग इंफ्रास्ट्रक्चर पेमेंट को कम करने में आपकी मदत कर सकता है।
 
अगर आपका वेब होस्टिंग प्रोवाइडर आपसे बैंडविड्थ के बेसिस पर शुल्क अकारता है, तो CDN उन बैंडविड्थ शुल्कों को कम करने में आपकी मदत करेगा।
 
3) CDN आपके वेबसाइट के SEO Ranking  में सुधार करता है :
परफॉरमेंस में सुधार करके, कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क आपकी वेबसाइट को Google और अन्य सर्च इंजिन्स में बेहतर रैंक करने में मदत करता है।
हर कोई चाहता है कि उसकी वेबसाइट सर्च रिजल्ट्स में सबसे ऊपर दिखाई दे, और जिस स्पीड से आपके वेब पेजेस लोड होते हैं वह उसमें एक महत्वपूर्ण कारन है।
 
 

CDN Ke Nuksan | Disadvantages or using CDN :

ऐसा नहीं है की कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क यानि CDN का उपयोग करने से सिर्फ फायदा ही हो इसकी कुछ कमिया भी जननी जरुरी है। 

निचे दिए गयी कुछ ऐसी ही कमिया है :

एफ्फोर्ट्स & एक्सपेंसेस (प्रयास और खर्चे) : कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क को स्थापित करने और ऑपरेट करने में कंपनी के लिए अतिरिक्त प्रयास और खर्चे शामिल है। विश्वसनीय सर्विस प्रोवाइडर्स ईसके लिए एक उपाय प्रदान करते हैं।

लॉस्ट कंट्रोल (नियंत्रण गवाना) : यदि कोई कंपनी सिर्फ अपने सर्वर पर डेटा होस्ट करती है, तो उस पर उसका सम्पूर्ण कंट्रोल होता है। लेकिन कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क का इस्तेमाल करते समय, यह आवश्यक है कि कुछ हद तक कंट्रोल खो जाए।

Leave a Comment